NEET 2016 के टॉपर हेत शाह की जुबानी, उनकी सफलता की कहानी

Source- 
ABP News

NEET 2016 के टॉपर हेत शाह बन गए हैं और उन्होंनें 2016 में पहली बार आयोजित हुई NEET की परीक्षा में ऑल इंडिया में नंबर वन रैंक हासिल की है. हेत शाह फिलहाल एम्स दिल्ली में एमबीबीएस प्रथम वर्ष के छात्र हैं. अपनी सफलता के मौके पर उन्होंने बताया है कि कैसे उन्होंनें NEET की परीक्षा में पहला स्थान हासिल किया है और इसके लिए उन्होंनें क्या-क्या तैयारियां की थीं.

 

Call us For

Psychographic Society-Ranchi-Presents

NEET Rank Counselling Program  @ Rs 2500

Medical Information Counselling @ Rs 1000

 @ 95707-95071

NEET 2016 के टॉपर हेत शाह ने कहा कि परीक्षा में सफल होने के इच्छुक छात्रों को NCERT की किताबों को पढ़ना चाहिए और अपनी तैयारी पर फोकस करना चाहिए. हेत शाह के मुताबिक वो टॉप 10 में आने की उम्मीद तो कर रहे थे पर NEET परीक्षा में टॉप करना उम्मीद से ज्यादा था. हेत ने बताया कि वह अक्सर टॉपर्स स्टुडेंटस का वीडियो देखते थे और उनसे सफलता के गुर सीखते थे, यही उनकी प्रेरणा थी. हेत शाह ने कहा कि वो रिजल्ट से खुश है और यह कुछ खास है.

गुजरात के एक छोटे से शहर नदिआड़ के रहने वाले हेत शाह बचपन से ही एक होनहार छात्र हैं और उन्होंने 12th की परीक्षा सीबीएसई बोर्ड से 94.2 फीसदी अंकों के साथ पास की है. शाह के पिता एक व्यापारी है जो अनाज बेचते है और मां घर के कामकाज देखती है. हजारों बच्चों की तरह 2014 में हेत ने भी कोटा का रुख किया और मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम परीक्षा पास करने के लिए कोटा का एलन इन्स्टिट्यूट ज्वाइन किया. 2015 में विज्ञान और तकनीकी विभाग की ओर से किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना का स्कॉलरशिप प्रोग्राम आयोजित किया गया, जिसमें हेत शाह ने देश भर में 6वां स्थान प्राप्त किया. शाह फिजिक्स और बॉयोलोजी ओलम्पियाड का पहला राउंड भी पार कर चुके है.

हेत शाह के मुताबिक सफलता का कोई शार्टकट रास्ता नहीं है और वो विश्वास करते है कि कठिन परिश्रम जरुरी है, परीक्षा की तैयारियों के लिये हमें केंद्रित होना जरुरी है. अन्य स्टूडेंटस से अलग शाह 12 घंटे पढ़ाई की बजाय 6 घंटे ही पढ़ाई करते थे और उनके मुताबिक बेसिक कांसेप्ट मजबूत करना ही सबसे जरुरी है बहुत से छात्र परीक्षा में कठिन सवालों की उम्मीद करते है जबकि ये सही नहीं है. ज्यादा मुश्किल बेसिक कांसेप्ट मजबूत नहीं होने की वजह से ही होती है. हेत परीक्षा में सफल होने के लिए छात्रों को NCERT की किताबों को पढ़ने का सुझाव देते है और इसे सफलता की कुंजी मानते है.

भविष्य के बारे में पूछे जाने पर हेत ने कहा कि उन्होने ज्यादा कुछ सोचा नहीं है पर वो न्यूरोसर्जरी के क्षेत्र में जाना चाहेंगे. फिलहाल हेत शाह जल्द ही अपने घर जाना चाहते है और माता-पिता के साथ क्वॉलिटी टाइम बिताना चाहते हैं.

Comment

Our Products

RANK COUNSELLING
₹ 5000
Exam Alert
₹ 200
General Psychological Counselling
₹ 500
CLAT-NIFT-BBA-DU
₹ 1000
Get Free Exam/Admission
Notification

News & Notification